alessays

Let's explore our knowledge!

एकता का बल Hindi short story

एकता का बल a hindi short story

एक बार की बात हैं कि कबूतरों का एक दल आसमान में भोजन की तलाश में जा रहा था। गलती से वह दल भटककर ऐसे जगह पहुंचा जहां भयानक अकाल पडा था। कबूतरों का सरदार चिंतित था क्योंकि वे सभी कबूतरों भूखे थे और उनकी शरीर की शक्ति खत्म होती जा रही थी। जल्दी ही कुछ खाने की उन्हें बहुत जरूरत थी। काफी देर आसमान में उड़ने के बाद उन्हें एक जगह नीचे हरियाली नजर आई तो भोजन मिलने की उम्मीद बनी। कबूतरों को नीचे एक खेत में बहुत सारा अन्न के दाने बिखरे नजर आए। कबूतरों का दल नीचे उतरा और दाना चुगने लगा। वास्तव में वह दाना पक्षी पकडने वाले एक शिकारी ने बिखेर रखा था  और उस पर पक्षियों को पकड़ने का एक जाल बिछाया था। जैसे ही कबूतरों का दल दाना चुगने लगा, जाल उन पर गिर गया जिससे सारे कबूतर फंस गए। सभी कबूतर पछतावा करने लगे कि उन्होंने आखिर ध्यान क्यों नहीं दिया। अब पछताए होत क्या, जब चिडिया चुग गई खेत? एक कबूतर रोने लगा और कहने लगा कि हम सब मारे जाएंगे। बाकी सभी कबूतर भी हिम्मत हार बैठे थे, पर कबूतरों का सरदार गहरी सोच में डूबा था। एकाएक उसे एक युक्ति सूझी उसने कहा जाल मजबूत हैं यह ठीक हैं, पर इसमें इतनी भी शक्ति नहीं कि एकता की शक्ति को हरा सके। एक कबूतर बोला आप साफ-साफ बताओ आपके दिमाग में क्या चल रहा है। सरदार बोला तुम सब चोंच से जाल को पकडो, फिर जब मैं उड़ने को कहूं तो एक साथ जोर लगाकर उड़ जाना। सब मुखिया कबूतर की बात से सहमत हो गए। फिर सबने ऐसा ही किया। तभी जाल बिछाने वाला शिकारी भी आता हुआ नजर आने लगा। जाल में कबूतरों को फंसा देखकर वह भागकर जाल की तरफ आने लगा। वह शिकारी अभी कुछ ही दूरी पर था कि सारे कबूतर एक साथ जोर लगाकर उड़ पड़े तो पूरा जाल हवा में ऊपर उठ गया और सारे कबूतर जाल को लेकर ही उडने लगे। यह दृश्य देखकर वह शिकारी स्तब्ध रह गया। सभी कबूतर जानते थे कि उनके लिए ज्यादा देर तक जाल सहित उडते रहना संभव न होगा पर उनके पास इसका भी उपाय था। पास की ही एक पहाडी पर बिल बनाकर उसका एक चूहा मित्र रहता था। कबूतर तेजी से उस पहाडी की ओर चल दिए। कबूतरों को आता देख चूहा बहुत खुश हुआ उसने सारी घटना जानने के बाद अपने दांतों का सहारा लेकर धीरे धीरे उस पूरे जाल को काट डाला जिससे सभी कबूतर आजाद हो गए और सबकी जान बच गई।

सीखः एकजुट होकर बडी से बडी विपत्ति का सामना किया जा सकता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *